संख्या-: 157/तीन-2003-77(11)/83

प्रेषक,

        तुलसी गौड़

        सचिव,

        उत्तर प्रदेच्च शासन।

 

सेवा में,

        समस्त जिलाधिकारी,

        उत्तर प्रदेच्च।

 

सामान्य प्रच्चासन अनुभाग                   लखनऊ : दिनांक :  18 फरवरी, 2003

 

विषयः        डोमीसाईल/सामान्य निवास संबंधी प्रमाण पत्र निर्गत किये जाने के संबंध में प्रक्रिया का निर्धारण।

 

महोदय,

 

        जिलाधिकारी के समक्ष डोमीसाईल/सामान्य निवास संबंधी प्रमाण पत्र निर्गत करने हेतु प्रार्थना पत्र प्राप्त होते रहते हैं। डोमीसाईल/सामान्य निवास संबंधी प्रमाण पत्र की आवच्च्यकता सामान्तयः पैरा-मिलिट्री व अन्य संस्थाओं में रोजगार हेतु भर्ती, डिग्री कालेज व विच्च्वविद्यालयों में प्रवेच्च एवं एल0पी0जी0-केरोसिन-डीजल डीलरच्चिप आदि प्राप्त करने के मामलों में होती है। प्रायः जनपदों से ऐसे मामले शासन को संदर्भित कर दिये जाते हैं।

 

2-        डोमीसाईल/सामान्य निवास संबंधी प्रमाण पत्र निर्गत किये जाने हेतु निर्धारित  दिच्चा निर्देच्च एवं प्रक्रिया के सरलीकरण की आवच्च्यकता इसलिये महसूस की जा रही है क्योंकि उक्त प्रमाण पत्र को नागरिकता जैसे महत्वपूर्ण तथा अहम बिन्दु से जोड़ कर देखा जा रहा है, जिससे भ्रम की स्थिति बनी रहती है एवं अनायास डोमीसाईल/सामान्य निवास संबंधी प्रमाण पत्र जारी किये जाने विषयक प्रक्रिया को नागरिकता से जोड़कर देखने से उत्पन्न हुये भ्रम के कारण ही कभी-कभी शासन को असमंजस की स्थिति का सामना करना पड़ता है।

 

3-     इस संबंध में मुझे यह कहने का निदेच्च हुआ है कि उपर्युक्त समस्त तथ्यों के आलोक में सम्यक विचारोपरान्त शासन द्वारा अब तक डोमीसाईल/सामान्य निवास संबंधी सर्टिफिकेट जारी करने हेतु निर्धारित प्रक्रिया विषयक शासनादेच्च संख्या-भा0स0-55/तीन-99-77(11)/83, दिनांक 18-1-2000 तथा शासनादेच्च संख्या-597/तीन-2000-77(1)/83, दिनांक 15-2-2000 को निरस्त करते हुये एतद्द्वारा डोमीसाईल/सामान्य निवास संबंधी प्रमाण पत्र निर्गत किये जाने हेतु निम्न प्रक्रिया प्रख्यापित की जाती हैं :-

(1)        सामान्य निवास प्रमाण पत्र अधिकतर किसी शैक्षणिक संस्था में प्रवेच्च हेतु अथवा किसी सेवायोजन हेतु आवेदन करने के प्रयोजनार्थ जारी किया जायेगा एवं यह प्रमाण पत्र इन्हीं प्रयोजनों के लिये मान्य होगा व तद्नुसार यह प्रमाण पत्र पर उल्लिखित होगा।

 

(2)        संबंधित जनपद के जिला मजिस्ट्रेट अथवा उनके द्वारा इस हेतु लिखित रूप से अधिकृत अपर जिला मजिस्ट्रेट/सब डिवीजनल मजिस्ट्रेट यह प्रमाण पत्र देने के लिये सक्षम अधिकारी'' होंगे ।

 

(3)        प्रमाण पत्र पाने के लिये यह आवच्च्यक है कि आवेदक या उसके माता-पिता उस जनपद के मूल निवासी हो अथवा वह अस्थायी रूप से गत तीन वर्ष से उस जनपद में निवास कर रहा हो ।

 

(4)  जो व्यक्ति किसी ऐसी सरकारी अथवा गैर-सरकारी सेवा में है, जो स्थानान्तरणीय है, को नियमों में च्चिथिलता प्रदान की जायेगी।

 

(5)        प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिये आवेदक को निर्धारित प्रारूप-1 पर प्रार्थना पत्र दो प्रतियों में देना होगा। प्रार्थना पत्र पर आवेदक के दो नवीनतम फोटो होना आवच्च्यक है। एक फोटो अभिलेखनार्थ व दूसरा प्रमाण पत्र पर चस्पा कर (निर्गमन अधिकारी द्वारा मुहर व हस्ताक्षर सहित जारी करने हेतु) प्रस्तुत करेंगे। प्रार्थना पत्र का प्रारूप-1 संलग्न है।

 

 (6)        प्रार्थी द्वारा निम्नलिखित गणमान्य व्यक्तियों में से किसी एक द्वारा यथा-जो शासकीय सेवा में राजपत्रित अधिकारी हो, संसद सदस्य, विधायक, अध्यक्ष जिला पंचायत, अध्यक्ष नगर पंचायत एवं राष्ट्रीयकृत बैंकों के शाखा प्रबन्धक द्वारा सत्यापन पत्र संलग्न प्रारूप पर, प्रार्थना पत्र के साथ उपलब्ध कराया जायेगा।

 

 (7)        किसी भी च्चिक्षण संस्था या सेवायोजक का प्रमाण पत्र, अध्यक्ष ग्राम पंचायत, अध्यक्ष नगर पंचायत का प्रमाण पत्र, राच्चन कार्ड, ड्राईविंग लाईसेन्स, पासपोर्ट, चुनाव परिचय पत्र, आयकर का स्थायी लेखा संख्या (पी0ए0एन0), भवन कर, जल कर, बिजली बिल आदि भी आवेदन के प्रस्तर-4 के प्रयोजनार्थ अनुमन्य होंगे। इनमें से कोई भी एक अभिलेख प्रार्थना पत्र के साथ संलग्नित किया जायेगा।

 

 (8)        सक्षम प्राधिकारी या प्रमाण पत्र निर्गत करने वाले अधिकारी का यह उत्तरदायित्व होगा कि आवेदन पत्र प्राप्त होने के एक सप्ताह में जॉच हेतु संबंधित जॉच अधिकारी/कर्मचारी को प्राप्त करा दिया जाये। इसके उपरान्त उनसे दो सप्ताह में जॉच आख्या मंगा ली जाये तथा इसके एक सप्ताह के अन्दर सामान्य निवास संबंधी प्रमाण पत्र निर्गत करने का या उसकी जॉच आपत्तियों को आवेदक को सूचित कर दिया जाये।

 

 (9)        सक्षम अधिकारी इस तथ्य से संतुष्ट होने पर कि आवेदक या उसके माता-पिता उस जनपद के मूल निवासी है या कम से कम तीन वर्ष की अवधि से उस जनपद में निवास कर रहें है, तो वह प्रारूप-2 में सामान्य निवास प्रमाण पत्र निर्गत करेंगे। प्रमाण पत्र का प्रारूप-2 संलग्न है।

 

 (10)        उपर्युक्त प्रमाण पत्र किसी शैक्षणिक संस्था में प्रवेच्च अथवा किसी सेवायोजन हेतु आवेदन करने के प्रयोजन के लिये ही जारी किया जायेगा तथा इससे नागरिकता प्राप्त करने का कोई संबंध नहीं होगा। उल्लेखनीय है कि नागरिकता का विषय दि सिटीजनच्चिप एक्ट-1955'' में स्पष्ट रूप से प्राविधानित है तथा यह भारत सरकार के विचार क्षेत्र का विषय है। यदि किसी व्यक्ति की नागरिकता पर प्रच्च्नचिन्ह हो अथवा इस पर विचार किया जाना हो तो प्रकरण जिला मजिस्ट्रेट के माध्यम से शासन को प्रस्तुत होगा, जिसे अन्ततः भारत सरकार को विचारार्थ प्रेषित कर दिया जायेगा।

 

4-        कृपया उक्त आदेच्चों का कड़ाई से अनुपालन सुनिच्च्िचत किया जाये।

 

                                                                       भवदीय,

 

                                                                   तुलसी गौड़

                                                                     सचिव।

 

प्रारूप-1

उत्तर प्रदेच्च राज्य में सामान्य निवास संबंधी प्रमाण पत्र के लिये

 

(केवल शैक्षणिक संस्थाओं में प्रवेच्च एवं सेवायोजन के प्रयोजन हेतु)

 

आवेदन पत्र का प्रारूप

 

1.     आवेदक का नाम..............................................................................    आवेदक की नवीनतम

                                                                फोटो सत्यापनकर्ता द्वारा

2.     पिता/माता का अथवा पति/पत्नी का नाम ..........................  हस्ताक्षरित व मुहर सहित

                                                  चस्पा की जाये।

3. (क)      आवेदक अथवा उसके माता-पिता के उस जनपद के मूल निवासी

        होने का प्रमाण पत्र (यदि है तो) ............................................................

 

  (ख) माता/पिता का जन्म स्थान (कब हुआ, मूल निवास कब से है, कब

        से कब तक)...................................................................................................

 

  (ग) उत्तर प्रदेच्च के उक्त जनपद में अचल सम्पत्ति का विवरण (यदि हो)

        .........................................................................................................................

        अभिलेखीय साक्ष्य के साथ

                                                अथवा

 

4-              सामान्य तौर से माता/पिता के निवासी होने (तीन वर्ष से अधिक

अवधि से अस्थायी रूप से निवासी होने) विषयक प्रमाण पत्र

(ग्रामीण क्षेत्र में ग्राम प्रधान द्वारा तथा शहरी क्षेत्र में नगर पालिका

एवं उप नगर में टाउन एरिया के सक्षम अधिकारी द्वारा दिया जाने

वाला प्रमाण पत्र .........................................................................................

 

5-              पूरा वर्तमान पता .......................................................................................

थाना ....................................................तहसील..........................................

जनपद...............................(तथा पिछले तीन वर्षो से निवास करने का

का पता, कब से कब तक).......................................................................

........................................................................................................................

 

6-              उत्तर प्रदेच्च के उक्त जनपद में निवास करने की अवधि.................

(अभिलेखीय साक्ष्य के साथ उपर्युक्त बिन्दु-4 में की गयी व्यवस्थानुसार)

 

7.(क)       आवेदक का जन्म स्थान ....................................................................................

 

  (ख) जन्म तिथि ...........................................................(ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम प्रधान

        द्वारा, शहरी क्षेत्र में नगर पालिका तथा उप नगर में टाउन एरिया के

        सक्षम अधिकारी द्वारा जारी होगा)

 

8.     स्थायी पता ............................................................................................................

        ...................................................................................................................................

 

9-              क्या आपने किसी अन्य जिला या प्रान्त से निवास प्रमाण पत्र प्राप्त किया

है (हां/नहीं) ...............................................(यदि हो तो उसकी अनुप्रमाणित

प्रतिलिपि संलग्न करें)

 

10-       प्रमाण पत्र किस प्रयोजन हेतु चाहिये .............................................................

..................................................................................................................................

 

 

        मैं ........................................................................घोषणा करता/करती हॅूं

कि उपरोक्त समस्त सूचनायें सत्य हैं व मेरी स्वयं की जानकारी के आधार

पर दी गयी हैं जिसके लिये मैं पूर्णतया उत्तरदायी हॅू।

 

                                                          आवेदक का पूरा नाम

                                                             तथा हस्ताक्षर

 

(नोट :    आवेदक के फोटो की एक अन्य प्रति फोटो के पीछे सत्यापनकर्ता

के हस्ताक्षर व मुहर सहित आवेदन पत्र के साथ नत्थी की जाये।)

 

प्रारूप-2

 

सक्षम अधिकारी/जिलाधिकारी द्वारा प्रदत्त सामान्य निवास प्रमाण पत्र

 

                एतद्द्वारा यह प्रमाणित किया जाता है कि

        श्री/श्रीमती/कुमारी...................................................      फोटो की एक प्रति 

       पुत्र/पुत्री/पति/पत्नी.............................................        चस्पा करने के बाद

       निवासी मकान नम्बर.................................................       सक्षम अधिकारी द्वारा

ग्राम/मोहल्ला..................................थाना..................        हस्ताक्षरित व मुहर

       जनपद.......................उत्तर प्रदेच्च का/की निवासी     लगाकर प्रमाणित की

       है व उनका वर्तमान पता .........................................             जाये।

          .........................................................................................

        है।

 

2-        उपर्युक्त की पुष्टि प्रारूप-1 में आवेदक एवं सत्यापनकर्ता द्वारा उपलब्ध करायी गयी सूचना तथा इससे संतुष्ट हो जाने के उपरान्त अधोहस्ताक्षरी द्वारा उत्तर प्रदेच्च के इस जनपद का सामान्य निवासी होने (Ordinarily Resident) विषयक प्रमाण पत्र निर्गत किया जा रहा है।

 

दिनांक :                                                हस्ताक्षर

 

 

                                                जिलाधिकारी/सक्षम अधिकारी

                                                        का नाम व मुहर

 

नोट :        उपर्युक्त प्रमाण पत्र किसी शैक्षणिक संस्था में प्रवेच्च अथवा किसी सेवायोजन हेतु आवेदन करने के लिये ही केवल जारी किया गया है तथा इससे नागरिकता प्राप्त करने का कोई संबंध नहीं है। उल्लेखनीय है कि नागरिकता का विषय दि सिटीजनच्चिप एक्ट, 1955 में स्पष्ट रूप से प्राविधानित है तथा यह भारत सरकार के विचार क्षेत्र का विषय है। यदि किसी व्यक्ति की नागरिकता पर प्रच्च्नचिन्ह हो अथवा इस पर विचार किया जाना हो, तो प्रकरण जिला मजिस्ट्रेट के माध्यम से शासन को प्रस्तुत होगा, जिसे अंततः भारत सरकार को विचारार्थ प्रेषित कर दिया जायेगा।

 

सत्यापन

 

श्री/श्रीमती/कुमारी........................................................................................................ (जिनका अभिप्रमाणित फोटो इस आवेदन पर लगा है) पुत्र/पुत्री/पत्नी........................................................................निवासी/निवासिनी मकान नम्बर..................................................................................ग्राम/मोहल्ला..................................................... पोस्ट.....................................................जनपद......................................उत्तर प्रदेच्च को मैं ................... वर्षो से जानता हॅू।

 

श्री/श्रीमती/कुमारी...........................................................................वर्षो से उक्त पते पर निवास कर रहा/रही हैं।

 

अथवा

 

श्री/श्रीमती/कुमारी........................................................................................................ पुत्र/पुत्री/पत्नी...............................................................की या उसके माता/पिता की ग्राम/मोहल्ला............................................................तहसील.................................. जिला...........................................................में अचल सम्पत्ति है।

 

दिनांक :                                                     हस्ताक्षर

 

 

                                                          सत्यापनकर्ता का नाम

                                                             पदनाम व मुहर

 

नोट :        उपरोक्त प्रस्तर-2 या 3 में से किसी एक का सत्यापन वांछनीय है।